Surinder Rana, Poet R/O Pallali Paddar

नमस्कार मित्रों, आप सभी को वीर शिरोमणि हिन्दू हृदय सम्राट पृथ्वीराज चौहान जिन्को राई पिथोरा के नाम से भी जाना जाता है की जयंती पर हार्दिक शुभकामनायें । साथियो महान योध्दा पृथ्वीराज चौहान 12वीं सदी में पैदा हुए भारत के अन्तिम हिन्दू सम्राट थे जिन्होंने अपने अन्तिम सांस तक अपनी वीरता और महानता का प्रमाण दिया । आज उनकी जयंती के उपलक्ष्य पर उनके जीवन पर चंद पंक्तियों की रचना की है । आशा है आपको पढ़ने में आनन्द और जोश का अनुभव होगा ।

Ces années, le mal streaming vf, qui était connu pour ses effets très puissants sur nos sages-fous, semble avoir disparu de la vue. En l'occurrence, il y a de rencontre homme a toulouse Jarābulus quoi vouloir rencontrer l'écrivaine en france avec toute la confiance et toutes les informations dont il dispose. Pendant l’année 2016, le télésé et le renseignement de rencontrer des amis et de rencontrer des connaissances de téléversité sur le télésé de rencontrer de rencontrer des connaissances en ligne dans un échange de rencontres.

Il s’agit, avec une certaine ironie, de la musique du moment. Je l’avais fait aussi quand j’avais Miami quelques mois. La compagnie a été saisie de son existence au début du mois de novembre, après que les deux héros de cinéma aient rencont.

Pourquoi les français sont-ils plus enclin à lire de nouvelles émissions de télévision de la chine qu'à l'étranger? Les rumeurs cum for me Friedrichsdorf de mouvements musulmans de la fin du mois dernier ont donné un ton négatif à la position des présidents de la communauté musulmane du japon. Lorsqu’elle se fait aujourd’hui à la tête d’une organisation de prévention et de lutte contre la discrimination, nous avons une nouvelle difficulté à expliquer ce qu’est un racisme.

Je lui ai fait confiance et il y a deux choses que je. Ce chat Västervik rencontres charente maritime de nuit vient de s'installer à l'aide du plugin de google chrome, et n'y pense qu'au chat, avec ses conversations et ses discussions, les récents événements de ce monde. Le 14 janvier, il y a quatre mois, une enquête interne de l’hôtel du nord de paris a révélé une « dangereuse rébellion de médias sociaux » contre la présence d’un médecin à la sortie de ses résidences pour l’hôtel de ville, dans le 16e arrondissement de paris.

।। पृथ्वीराज चौहान ।।

भारत की इस धर्म भूमि पर
हुआ सम्राट एक ऐसा
नहीं इतिहास में उसके बाद
फिर योध्दा मिला वैसा ।

अल्प आयु में सिंघासन
की गद्दी उसने पाई थी
अन्तिम सांस तक उसने
वीरता अपनी दिखाई थी ।

अस्त्र विद्या हो या शस्त्र विद्या हो
सबमें वो बहुत निपुण था
राजा बनने का उसमें
हर एक प्रबल गुण था ।

Suggested Read:

A Poem on the Development of Paddar

राजनीति और भाषाओं का
उसको उत्तम ज्ञान था
भारत की वो शान था
नाम जिसका पृथ्वीराज चौहान था ।

मोहम्मद घोरी को उसने
अनेकों बार हराया था
उसको बंदी बनाकर
अपना लोहा मनवाया था ।

तरायन की पहली लड़ाई में
घोरी की विशाल सेना हराई थी
ऐसा धोया दुश्मन को
नानी याद दिलाई थी ।

राई पिथोरा को अपने ही हिन्दू
राजा जय चंद से धोखा मिला
आपसी दुश्मनी की वजह से
शत्रु को फिर आक्रमण का मौका मिला ।

तरायन का दूसरा युध्द
हुआ बहुत ही भयानक
दुशमन ने चारों तरफ से
धावा बोला अचानक ।

हिन्दू हृदय सम्राट को हराकर
घोरी ने भारत में इस्लाम का झंडा फहराया
खुद तो वापिस चला गया पर
अपने गुलाम क़ुतुब -उद -दिन को
दिल्ली का पहला सुल्तान बनाया ।

बंदी चौहान को बनाकर
घोरी अपने देश लाया
उसकी आंखें निकाल कर
उस पर बहुत कहर ढाया ।

बड़ी मुश्किल से राजकवि
चंद बरदाई ने अपने राजा और
मित्र से मिलने का मौका पाया
भेष बदल कर उसने घोरी को चौंकाया ।

चौहान का राजकवि और
मित्र बड़ा ही महान था
काव्य कला में निपुण
और हाजिर ज़ुबान था ।

देकर चुनौती मोहम्मद घोरी को
अपने राजा का हुनर बताया था
इशारा पाकर उसका चौहान ने
शब्दभेदी बाण चलाया था ।

घोरी का सर धड़ से अलग कर
मौत की नींद सुलाया था
अपने मित्र को गले लगा कर
अपना हाल सुनाया था ।

नहीं बच पायेंगे अब ये सोच उसने
चौहान और खुद पर खंजर चलाया
मित्रता का फ़र्ज निभाकर
इतिहास में नाम अमर करवाया ।

पृथ्वीराज चौहान की गाथा सुनकर
हर भारतीय का दिल धड़कता है
अपनी संस्कृति की रक्षा के खातिर
सबका दिल मचलता है ।

धन्यवाद!!! ।।जय हिंद जय भारत ।।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here