Poem on Chenab River by Sonu Kumar Bhardwaj

नमस्कार दोस्तों !आज मैं आपके सन्मुख एक कविता पेश करने जा रहा हूं, जिसे दरिया-ए-चिनाब पर बनाया गया हैl दरिया चिनाब का सफर लाहौल स्पीति(हिमाचल), पाडर से होते हुए कश्मीर(जे०के)के रास्ते सीधे पाकिस्तान को...

Poem on the Burning Jungles of Paddar by Sonu Kumar

सबसे पहले आप सभी को मेरी ओर से नमस्कार! जिस प्रकार आप सभी जानते हैं कि पाडर में सौणगल नामक जो जंगल है वहां पर बहुत भीषण आग लगी है तो मैं चाहता हूं...

Poem on Teacher’s Day by Surinder Rana

नमस्कार मित्रों!आप सभी को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।मित्रों आज एक और कविता आपके नज़र कर रहा हूँ ।यह कविता उन सब शिक्षकों को समर्पित है जिन्होने देश के भविष्य को उज्जवल बनाने...

कब बनेगा एक जुट भारत ?

नमस्कार मित्रों ! आज एक और कविता देश की एकता और अखंडता को समर्पित करने जा रहा हूँ आशा है सबमें एक नयी उर्जा का संचार करेगी । कब बनेगा एक जुट भारत ? एक तो...

Poem by Madhur Paddri : फूल वे जाने कहां हैं|

यह कविता (हाई स्कूल सोहल के) उन चार होनहार और मेधावी छात्रों के नाम लिखी गई थी जिन की 4अगस्त 2018 को एक दुखद घटना में तालाब में डूबने से मृत्यु हो गई थी...

TRENDING RIGHT NOW