आजकल ST Status चर्चे मे है, इस बात को आगे लेते हुए मैंने एक कविता के माध्यम से ये बताने कि कोशिश कि है कि पाडर कैसे बदलेगा इसके बाद और क्यों है ये ज़रूरी| कल अमित शाह जी J&K मे पधार रहे है और इसके चलते ये उमीदें भी वाबस्ताँ हैं कि इस Status कि घोषणा कि जाएगी|  अपनी राय ज़रूर दें|||

 

 ” ST Status for Paddar “

ST status का तोहफा
जो पाडर को मिलता है,
एक नया बदलता फिर पाडर
देखो कैसे दिखता है|

जिसके लिए हमारे बुज़ुर्ग लड़ें है
यारो बीते 47 सालों से..
जिसके लिए रहे हम खड़े हैं
यारो हर मुश्किल हालों मे…

एक नयी पहचान का मौका
जो पाडर को मिलता है,
एक नया बदलता इतिहास देखो फिर
पाडर का युवा कैसे लिखता हैं..

आधुनिकता कि मार से कहो या
भूमण्डलीकरण का हो आघात..
हमारी संस्कृति, पूले और बोली
का बचाव इसि मे दिखता है…

मौका नये समृद्ध समाज गड़ने का
जो पाडर को मिलता है..
एक सशक्त रोज़गार युवा फिर
पाडर का कैसे दिखता है|

विकास कि जब बात करें हम..
जांस्कार कि तरफ जब हाथ करें हम,
पांगी कि और जब आँखे चार करें हम..
तो अपना पाडर बहुत पिछड़ा दिखता है..

फिर उमड़ते जायज़ कइ सवाल हैं मन मे
फिर उतरते हज़ार कइ अपने लोग हैं रण मे
फिर क्यों यहाँ हर जागरूक पाडरी को…
यारो ST Status मे कुछ भविष्य दिखता है?

जब 500 पाडर कि बात करें हम,
नागौँ मे मेह, सौंसर कि तरफ जोड़े हाथ करें हम..
गांधारी, मचेल, कब्बन के लोगों से बात करें हम..
तो फिर एक नया हौसला मिलता है..

सुनील जी कि मेहनत जो ये रंग लाये..
अमित शाह जी जो ये Status संग लाये..
तो फिर नया ये पाडर अपना कैसे, आशीष
विकसित सुपर-500 पाडर बनता है |

ST status का तोहफा
जो पाडर को यारो मिलता है,
एक नया बदलता फिर पाडर
देखो कैसे हमें दिखता है…

धन्यवाद 🙏🙏🙏

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here